साइकिल गर्ल ज्योति के पिता की मौत, ज्योति ने की मदद करने की अपील

0
741

बिहार के दरभंगा की रहने वाली साइकिल गर्ल ज्योति कुमारी के पिता मोहन पासवान का हार्ट अटैक से निधन हो गया। उन्होंने सोमवार को पैतृक गांव सिरहुल्ली में अंतिम सांस ली। ज्योति का परिवार अभी भी गरीबी में रहने को मजबूर है। पिता की मौत के बाद परिवार चलाने वाला भी कोई नहीं रहा है। अब,साइकिल गर्ल ज्योति ने अपने परिवार की मदद के लिए अपील की है। उन्होंने पीएम मोदी से भी मदद की गुहार लगाई है। ज्योति के जज्बे को पीएम ने भी सलाम किया था। इसके बावजूद भी साइकिल गर्ल के परिवार की स्थिति नहीं बदली। सबकुछ वैसा ही रह गया।

दरअसल, पिछले साल लॉकडाउन में अपने बीमार पिता को साइकिल से गुरुग्राम से दरभंगा अपने गांव लेकर आई थी। उसने 1200 किमी का सफर साइकिल से तय किया था। इसको लेकर वह देश ही नहीं, विदेशों की भी मीडिया में छा गई थी। अमेरिका के तत्कालीन राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की बेटी इवांका ट्रंप ने ट्वीट कर जज्बे को सलाम किया था।

1200 रुपए की साइकिल से की 1200 KM की यात्रा

पिछले साल लॉकडाउन के दौरान कोरोना राहत सहायता योजना में ज्योति के पापा को 1000 रुपए मिले थे। उसने 1200 रुपए में एक पुरानी साइकिल के लिए पड़ोस के अंकल से बात कर ली। उन्हें 500 रुपए तत्काल दे दिए और 700 रुपए बाद में देने की बात कही। इस पर वे राजी हो गए। ज्योति ने 500 रुपए रास्ते में खाने-पीने के लिए बचाकर रख लिए। 7 मई की रात ज्योति 1200 की साइकिल से 1200 KM की यात्रा पर निकल पड़ी। कभी साइकिल से, कभी पैदल तो कभी थोड़ी दूर ट्रक वालों से लिफ्ट लेकर 8 दिन बाद 15 मई की शाम दरभंगा के सिंहवाड़ा स्थित अपने गांव सिरहुल्ली पहुंच गई थी। ज्योति ने रोजाना 100 से 150 किमी साइकिल चलाई थी।

पेट्रोल पंप पर रात गुजारती थी ज्योति

ज्योति अपनी इस यात्रा के दौरान शाम ढलने के बाद किसी पेट्रोल पंप पर रुक जाती थी। उसे इस दौरान बिल्कुल भी डर नहीं लगा, क्योंकि पूरे रास्ते में लोगों की भीड़ रहती थी। देखकर राहगीर चौंकते, लेकिन कोई क्या कर सकता था। सब मुसीबत के मारे थे। सबको किसी तरह घर पहुंचना था। बहुत-से लोग पेट्रोल पंप पर ठहरते थे। ज्योति वहीं फ्रेश होती और अगली सुबह फिर से बीमार पिता को साइकिल पर बैठा कर निकल पड़ती थी।

बता दें कि इसी वर्ष 25 जनवरी को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ज्योति कुमारी से वर्चुअल संवाद के जरिये बात की थी। साइकिल गर्ल ज्योति इस बार प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कार 2021 से भी नवाजी जाएंगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here